Tags

, , , , , ,


कल व् आज के घटनाक्रम का संक्षिप्त विवरण

नालिखली और अन्य 3 गाँवो में जो शुरू हुआ उसके बारे में गाँव के लोग पूरी तरह से अनजान थे, दिखने में ये एक मौलवी की हत्या के बाद एक प्रतिक्रिया दिख रही थी पर बिना किसी प्रमाण के सबूतों के अभाव में कल सुबह 8 बजे से ही हथियारों से लैस हजारो मुसलमान ट्रको में भर भर कर नोलिखाली गाँव में पहुँचने शुरू हुए, और हिन्दुओ पर बिना किसी उकसावे के हमले सुरु किये, तोड़फोड़ व् आगजनी शुरू की, आज भी मस्जिदों के लाउडस्पीकरो से कुछ मौलवी हिन्दुओ के खिलाफ भाषण दे रहे है और मुसलमानों को मारने काटने के लिए उकसा रहे है जबकि वहां खड़ी पुलिस केवल तमाशबीन बनी हुई है क्योंकि कुछ दर्जन पुलिस वालो के सामने 20,000 से ज्यादा मुसलमान होने पर वे उनका किस प्रकार सामना करे पाएंगे? आज भी मृतक मौलवी के अंतिम दिन हजारो मुसलमानो ने इकट्ठे होकर हिन्दू नारे लगाए|

असम दंगो के बाद अब बंगाल में असर

कुछ महीनो पहले बंगलादेशी घुसपैठियों द्वारा असम के उपरी इलाको में किये गये विनाशकारी दंगो और ३०० से अधिक हिन्दुओ की मौत और 7 लाख से अधिक हिन्दुओ के बेघर होने की घटना के बाद भी केंद्र सरकार ने कोई सबक न लिया, इसी से जिहादी तत्वों के होंसले बढे और सोमवार को पश्चिमी बंगाल के 24 परगना में हथियारों से लैस 15000 मुसलमानों ने नोलिखाली में हिन्दुओ के गाँव पर न केवल हमला किया बल्कि 30 से अधिक हिन्दुओ की हत्या के बाद गाँव के गाँव और सभी खेत जला दिए,

1

इस्लाम में शांति और अमन चैन

एक बार फिर इस्लाम के शांति के दूतो ने दिखा दिया है की वे कितने शांतिप्रिय है और साबित कर दिया है दुनिया को इस्लाम के झंडे तले झुकाने के लिए सभी तरह के हथकंडे अपना कर ही रहेंगे चाहे उसके लिए कितने ही इंसानों का क़त्ल करना पड़े, निर्दोशो के गाँव घर जलाने पड़े या खून खराबा करना पड़े, ताजा मामला सामने आया है बंगाल के 24 परगना में जहा इस्लामिक जिहादियो ने तांडव मचाते हुए 700 से अधिक गाँव जला डाले और अपुष्ट खबरों के अनुसार करीब 30 से अधिक हिन्दू अब तक मारे जा चुके है, पूरा घटनाक्रम बहुत ही हास्यास्पद है, केवल एक धार्मिक नेता की हत्या के बाद बिना कुछ जाने, अफवाहों के दम पर 15000 से अधिक जिहादियो ने हिन्दुओ के गांवों को घेर कर उन्हें आग लगा दी और कत्लेआम किया

521308_334439466677302_1525710004_n

हिन्दुओ के जले घर

551265_334439393343976_1592440056_n

जिहादियो द्वारा जलाये हुए वाहन

536963_334439346677314_456114213_n539851_334439230010659_1970150699_n545823_334439326677316_1353169514_n

क्या है पूरी घटना??

18-2-2013 नोलाखाली गाँव, 60 साल के एक मुस्लिम नेता जामतला गांव में एक धार्मिक समारोह में शिरकत करने गये थे। धार्मिक समारोह से वह रात को अपनी मोटरसाइकिल से घर लोट रहे थे की अचानक उनकी गाडी का पीछा करने वाले कुछ बदमाशो ने उनके ऊपर ताबड़तोड़ फायरिंग करनी शुरू कर दी और उनकी मौके पर ही मौत हो गयी । इस घटना में मोटरसाइकल चालक घायल हो गया। यह घायल शख्स किसी भी तरह एक सुरक्षित जगह पर पहुंचा और अपने संबंधियों व दोस्तों से संपर्क स्थापित किया। इसके बाद धीरे धीरे पुरे इलाके में ये अफवाह फैलने लगी की मुस्लिम नेता की हत्या में नोलाखाली जो की एक हिन्दू बहुल गाँव है के ही किसी व्यक्ति का हाथ है,  इसके बाद हजारो मुसलमान उस घटनास्थल पर जमा होने लगे और बाकी लोगों को उस स्थान पर बुलाने के लिए संपर्क करने लगे । शुरू में पुलिस ने इस समस्या को हलके में लिया और लोगों को हटाने के लिए एक जूनियर ऑफिसर और दो कॉन्स्टेबल को भेजा। देखते-देखते भीड़ उग्र हो गई और हिंसा पर उतारू हो गई। कई हजारो मुसलमान ट्रको से भर भर कर नोलाखाली में आने लगे, इन लोगों ने सड़क जाम कर दिया और रेलवे ट्रैक की पटरियां उखाड़ कर उसे को बाधित कर दिया। फिर क्या था हजारो मुसलमानो की इस भीड़ ने गांव के 200 घरों को आग के हवाले कर दिया और कई घरों को लूट लिया।

5643_334439286677320_1855114138_n

जिहादियो द्वारा हिन्दूओ के जलाए घर

13902_334439396677309_644042809_n

जिहादियो द्वारा हिन्दूओ के जलाए खेत और घर

14895_334439140010668_258962576_n

जले हुए घरो से सामान समेटा एक हिन्दू युवक

केवल अफवाह या सुनियोजित षड्यंत्र और मीडिया की बेरुखी

ये एक सुनियोजित हमला था जिसमे हजारो मुसलमानो ने पूरी योजना के साथ हिन्दुओ के गाँवो पर हमले किये और उनके खेत, घाट व् संपत्ति को जलाया, सबसे अधिक हैरानी वाली बात ये है की इलेक्ट्रॉनिक मीडिया इस पुरे मामले को दबाने के षड्यंत्र में लगी हुई है और जो भी खबरे आ रही है वे केवल प्रिंट मीडिया दे रही है या सोशल मीडिया(फेसबुक, ट्विटर) पर बंगाल के कुछ हिन्दू या कुछ देशभक्त चैनल(सुदर्शन टीवी) ही इस पुरी खबर को दिखा रहे है, इससे भी अधिक शोचनीय ये बात है की केंद्र या राज्य सरकार का कोई ऑफिसर या मंत्री घटनास्थल पर नहीं पहुंचा है, गुजरात दंगो पर छातियाँ कूटने वाले सेक्युलर जमात के छदम देशभक्त व् नक्सली अलगाववादियों को समर्थन देने कुछ तथाकथित राजनितिक व सामाजिक बुद्धिजीवी भी इस पर मौन है
नवभारत में छपी खबर पढ़े

11374_334439200010662_1941679452_n

हिन्दुओ के जले हुए घर

31914_334439233343992_1067052895_n(1)24301_334439280010654_95602882_n19681_334439676677281_1992790036_n
हिन्दुओ के एक मंदिर में तोड़फोड़ व् आगजनी

हिन्दुओ के एक मंदिर में तोड़फोड़ व् आगजनी

सुदर्शन न्यूज़ द्वारा खबर का प्रसारण और हिन्दू संहति के अध्यक्ष तपन घोष द्वारा घटना की जानकारी

सुदर्शन न्यूज़ पर हिन्दू संहति के तपन घोष बताते है की एक पुलिस अफसर अनूप बुरी तरह से घायल हो गया है। वहा पुलिस की दो गाड़िया जला दी गइ है। पुलिस वहा मुस्लिम से हिन्दुओ की रक्छा करने में पूरी तरह से नाकाम हो रही है। पुलिस वह पर इसलिए नाकाम हो रही है क्योकि वहा बहुत ज्यादा मुसलमान आ गए है। मुझे अभी जानकारी मिली है की कोलकत्ता के गार्डेन हिल जहा कल एक इंस्पेक्टर का क़त्ल हो गया था, वहा से कम से कम 100-150 ट्रक भर भर कर मुसलमान वहा पर पहुचे है। इतनी ज्यादा मुसलमान वह हजारो की संख्या में पहच गए है की पुलिस बिलकुल नाकाम हो गयी है। मुस्लिमो ने हिन्दुओ के नार्निया खली गाव को सुबह ही जल दिया था। अब वो हिन्दुओ के बाकि गावो को जला रहे है। सरकार इस न्यूज़ को पूरी तरह से दबाने में लगी है।

तपन घोष बताते है की वह की इस्थिति और भी ज्यादा ख़राब हो सकती है। प्रसाशन को जो शख्ती अपनानी चाहिए थी वो वो नहीं अपना रही है। पुलिस को गोली चलानी चाहिए जो की वो नहीं चला सकती है। यहाँ बंगाल में 30% से ज्यादा मुसलमान हो गए है। और मुसलमान नेताओ को वोट की धमकी देते है। इमाम खुले मीटिंग में ममता बेनर्जी को धमकी देता है।

सुदर्शन न्यूज़ चैनल आप देख सकते हैं:
DTH – Videocon d2h # 322, Reliance Big TV #428, Dish TV # 567
IPTV, 3G Mobile and Anywhere on Internet – http://www.sudarshantv.com
अगर आपका केबल ओपरेटर सुदर्शन नही दिखाता तो उसे मांगना आप का हक़ है।
https://www.youtube.com/watch?v=uNzSzFnaQqY&feature=player_embedded

1

बंगाल के दंगे – नोलिखाली के निवासियों द्वारा आपबीती

विश्वजीत सरदार कहते हैं, ‘हजारों हमलावरों ने सुबह के 10 बजे हमारे घरों पर हमला कर दिया। चौंकानेवाली बात यह है कि पुलिस वहां खड़ा होकर मुंह ताक रही थी।’ हमलावरों ने विश्वजीत के दो मंजिले घर को जला दिया। स्थानीय लोगों का कहना है कि ज्यादातर हमलावर बाहर के थे। उनके हाथों में बम थे। वे हमारे घरों पर पेट्रोल झिड़क रहे थे और आग लगा दे रहे थे। गांव के संतन अधिकारी का कहना है कि जिन लोगों ने उनका विरोध किया, उनकी हमलावरों ने जमकर पिटाई की। हमलावर 3 घंटे तक लोगों का घर जलाते रहे और पुलिस कुछ नहीं कर पा रही थी।

Hindu Devastation in 4 villages of Canning in South 24 Parganas district on 19 Feb, 2013 by rampaging fanatic Muslim mob. There is no mainstream media coverage of this massive Hindu Genocide in Bengal. Mainstream media is busy reporting Gujarat riots. Every Hindu has to join or start working in Media or Social media if they want to survive. Mainstream media will never show the Truth of Hindu prosecution. After Kasmir, Assam now its turn of Bengal.

नालिखाली गाँव के निवासियों का कहना है की मुस्लिम नेता की हत्या के पीछे कोई सबूत नहीं था, यहाँ तक की पुलिस की जांच भी नहीं हुई थी, केवल शक और अफवाह के बाद हजारो लोग अचानक हथियारों से लैस होकर आये और हिन्दुओ पर हमले करने शुरू कर दिए – शक्तिपाडा अधिकारी, एक बुजुर्ग गांववासी जो अपने जले हुए घर के बाहर शोकाकुल खड़ा था

“Police stood by and watched as thousands of men stormed our village around 10am,” said Biswajit Sardar, whose two-storied building was torched in the violence. Others alleged that most of the attackers were outsiders, who hurled bombs at houses, poured petrol and set them ablaze. “Whoever dared to protest was beaten up,” said villager Sanatan Adhikari. The rampage continued for three hours.

The Hindu villagers in Naliakhali say they had no clue about the murder. “It was only at dawn, when police arrived, that we came to know of the killing,” said Shaktipada Adhikari, an elderly villager whose house near the crime scene was reduced to ashes.

हिन्दू संगठनो का बंगाल दंगो के विरोध में प्रदर्शन

बजरंग दल, अखिल भारत हिन्दू महासभा के युवा संगठन हिन्दू युवक सभा और हिन्दू सेना ने कल शुक्रवार को बंगाल दंगो के विरोध में तृणमूल कांग्रेस के दिल्ली स्थित कार्यालय के बाहर जमकर विरोध प्रदर्शन किया और अपना रोष प्रकट किया, हिन्दू सेना के अध्यक्ष विष्णु गुप्ता ने भी बंगाल सरकार के द्वारा दंगाईयो पर कोई करवाई न करने की निंदा की और हिन्दू की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की|

6 2

अखिल भारत हिन्दू युवक सभा द्वारा बंगाल दंगो की निंदा

Akhil Bharat Hindu Yuvak Sabha

Ref. No. ABHYS/2013/012          

21st February 2013

To,

Home minister,
Govt.of India, New Delhi.

Dear Sir,

Akhil Bharat Hindu Yuvak Sabha strongly condemn widespread rioting and looting of Hindu’s in 4 villages under Canning police station in South 24 Parganas district of West Bengal on 19 Feb, 2013 by fanatic Muslim mob, which has effected 750 Hindu families of Nadiakhali area. Village Naliakhali has been fully burnt down and looted, more than 200 houses have been looted and burned by fundamentalist Muslim mob, and village temples have been damaged. Women have been brutally raped and molested.

West Bengal administration seems to be in deep slumber and is openly supporting these Muslim radicals by not acting against them. Police is so in sensitive that as per information petrol taken from Police vehicles has been used to torch Hindu houses. These attacks are consequences of appeasement of the fundamentalist’s among the minorities by the state and central Government .

This is not the first incident in West Bengal wherein Hindus have been targeted. Being Hindu seems a crime in West Bengal where Radical Muslims have been targeting Hindus in one pretext or the other and administration is sleeping.

Noakhali is slowly going the Kashmir way, this new face of Jihad is coming up in west Bengal which is becoming a safe sanctuary of Bangladeshi Muslim infiltrators, we do not want another Hindu ethnic cleansing like Kashmir to take place in West Bengal.

Akhil Bharat Hindu Yuvak Sabha demands :

  1. Stern action against the perpetrators involved in loot, arson and rape of Hindus.
  2. Safety of Hindus in west Bengal be assured to the nation.
  3. Strongly warning to Government of West Bengal to safeguard rights of Hindu living in the state.
  4. Probe on the recent Riots in west Bengal.
  5. Hindus be adequately compensated for their losses.
  6. Protection of all Hindu places of worship within west Bengal especially in areas bordering the Bangladesh,
  7. Probing role of illegal Bangladeshi infiltrators living in west Bengal and actions incited to deport them back.

Thanking you and Jai Shri Ram.

Rakesh Gurkha
National Spokesman,
Akhil Bharat Hindu Yuvak Sabha