Tags

, , , , , , , , , , , ,


खुद को अल्लाह का रसूल बताने वाला मुहम्मद दुनिया के लिए एक अभिशाप बन कर आया था. मुहम्मद संसार का सब से बड़ा हिंसक, क्रूर, हत्यारा, निर्दयी, अत्याचारी और अय्याश व्यक्ति था.

इसके अलावा वह अत्यंत धूर्त और चालाक भी था. वह हर एक कुकर्म को धर्म का जामा पहिना कर उसे जायज बना देता था, और अपनी बेतुकी बातों को अल्लाह का आदेश बता देता था. और लालची, अज्ञानी अरब उसे मान लेते थे.

मुहम्मद पूरी दुनिया पर कब्जा करना चाहता था, और वह चाहता था कि मुसलमानों का हरेक बच्चा हिंसक, क्रूर, और निर्दय बन जाए. ताकि वह बड़ा होकर जिहादी बने तो, उसे निर्दोष लोगों की ह्त्या करने में किसी तरह का संकोच नही हो.

इसके लिए मुहम्मद ने एक चाल चली, उसने हत्या का एक पाठ्यक्रम ही बना दिया. सबसे पाहिले छोटे छोटे प्राणियों को शैतान की रचना बता कर उनकी ह्त्या को जायज बना दिया. फिर कुरबानी के बहाने पशुओं की ह्त्या को धार्मिक कार्य बता दिया. और आखिर में गैर मुस्लिमों को काफ़िर बता कर उनकी ह्त्या को जायज बता दिया. मुहम्मद की दुष्टता देखिये –

1 -कुत्तों को मारो, कुत्ते शैतान की रचना हैं — 

“अबू जर ने कहा की रसूल ने कहा कि कुत्ते शैतान ने बनाए हैं, और काला कुत्ता खुद शैतान है. इसलिए कुत्ते जहाँ मिलें उनको मार डालो” सहीह मुस्लिम -किताब 4 हदीस 1032.

“मैमूना ने कहा कि, रसूल ने कहा रात को मुझे जिब्राईइल (एक फ़रिश्ता) मिला और उसने कहा कि तुम जितने भी कुत्ते हैं, उनको बच्चों से मरवा डालो. जब रसूल सोकर उठे तो उन्होंने सारे कुत्तों को मरवाने का हुक्म दे दिया. बच्चों ने वे कुत्ते भी मार दिए को रखवाली करते थे. “मुस्लिम -किताब 16 हदीस 2840.

“जबीर बिन अब्दुल्ला ने कहा कि एक औरत के पास एक कुत्ता था, जो बाग़ की रखवाली करता था. रसूल ने उस कुत्ते को मंगवाया, और मार डाला. रसूल ने लोगों से कहा कि कुत्ते की नस्ल के जितने जानवर हैं जैसे सियार, लोमड़ी , भेड़ियाजहां भी मिलें खोज कर मार डालो. मुस्लिम -किताब 16 हदीस 2839.

2 -कौवे, चील, चुहिया, शैतान ने बनाये हैं — 

“हफ्शा ने कहा कि, रसूल ने कहा कि यह पांच प्राणी कौवा, चील, चुहिया, बिच्छू, और कुत्ते शैतान ने बनाये है. इसलिए उनको मार डालना चाहिए. या बच्चों से मरवा देना चाहिए.

बुखारी -जिल्द 3 किताब 29 हदीस 52 ,54 और 55.

बुखारी -जिल्द 4 किताब 54 हदीस 531 और 532.

मुस्लिम -किताब 7 हदीस 331 और 332.

मुस्लिम -किताब 7 हदीस 2724 .2725 ,2727 ,2728 और 2729.

मुवत्ता-जिल्द 20 किताब 26 हदीस 89 और 90.

3 -गिरगिट (Gecko) को मारो — 

“अम्र बिन साद ने कहा कि, रसूल का आदेश था कि इस प्राणी को जहां देखो बच्चों से मरवा दो. और अपने बच्चों से कहो कि वे इसे खोज कर मार डालें”. मुस्लिम -किताब 26 हदीस 5562 5563 .5564 ,5565 और 5566.

4 -सैलामेंदर (Salamandar) को मारो — 

“उम्मे शरीफ ने कहा कि, रसूल को जहाँ भी सेलामेंदर मिल जाता था, वह उसे तुरंत मार देते थे. या बच्चों से मरवा देते थे.” बुखारी -जिल्द 4 किताब 54 हदीस 526.

“आयशा ने कि रसूल खुद सेलामेंदर को मारते थे. और कहते थे कि इसे शैतान ने बनाया है. बुखारी -जिल्द 3 किताब 29 हदीस 57.

रसूल की गुलाम सबीः अल फकीह इब्ने मुगीरा ने कहा कि मैंने देखा कि आयशा एक ज़िंदा सेलामेंदर को आग में जला रही थी. और कारण पूछने पर बोली कि यह रसूल का हुक्म है. रसूल ने कहा है कि सेलामेंदर को सैतान ने बनाया है . अगर इसे अल्लाह ने बनाया होगा तो यह आग में नहीं जलेगा. जैसे इब्राहीम नहीं जले थे. सुन्नन इब्न माजा -हदीस 3222.

5 -साँपों को मारो —

“इब्ने उमर ने कहा कि, रसूल ने कहा है कि हरेक सांप को मार डालो, चाहे उसने जहर नहीं हो, सांप शैतान ने बनाये हैं ”

बुखारी-जिल्द 5 किताब 59 हदीस 352.

 

6 -पशुओं के साथ कुकर्म कर सकते हो — 

“अब्दुला इब्न अब्बास ने कहा कि, रसूल ने कहा कि तुम अपने पालतू जानवरों जैसे बकरी, भेड और गधी के साथ सम्भोग कर सकते हो. अल्लाह ने इसके लिए किसी सजा का कोई प्रावधान नहीं किया है. सुन्नन अबू दाऊद-जिल्द 38 हदीस 4450.

7 -इस्लामी खेलों में हिंसा —

मुहम्मद खेलों में भी क्रूरता और हिंसा चाहता था. अरब देशों में जो ऊंटों की दौड़ होती है, उसमे पांच से आठ साल के बच्चों को जोकी jocky बना दिया जाता है. इसमे हर साल कयी बच्चे मार जाते हैं. जादातर बच्चे गरीब देशों से ख़रीदे जाते हैं. जब छोटे बच्चे डर के मारे चिल्लाते हैं, तो ऊंट और तेजी से दौड़ते हैं. इससे मुसलमान अरबों को मजा आता है . जो बच्चे मार जाते है उनको वहीँ दफ़न कर देते हैं. अरब शेख बच्चों का यौन शोषण भी करते हैं इसका पूर्ण विवरण देखें (www .childtrafficking .com)

8 -मुहम्मद की चालाकी —

मुहम्मद एक धूर्त आदमी था, वह खुद को शरीफ, दयालु और रहमदिल साबित करने के किये तिकड़म करता था. जब उसे पता चला कि ईसाई इसा मसीह को दयालु, जगत का उद्धार करने वाला और बचने वाला कहते है. जैसा कि बाइबिल में लिखा है –

“जब ईसा का जन्म हुआ तो, एक स्वर्गदूत ने कहा, आज दाऊद के घराने से तुम्हारे लिए एक उद्धारकर्ता का जन्म हुआ है, और यही मसीह है. यानी (Messiah या Savior) है. बाइबिल. नया नियम -लूका 9 :10 और 11”.

यह ईसा जगत में इस लिए आया कि, आपकी सेवा करे, और आप पर दया करके, आपको छुडाये. नया नियम -मरकुस 10 :45.

इसी कारण हरेक चर्च के ऊपर JHS शब्द लिखा रहता है, यह लेटीन भाषा के वाक्य का संक्षिप्त रूप है पूरा वाक्य इस प्रकार है –  “Jesus Hominus Salivatur यानि jesus Savior ऑफ़ Humankind ” 

मुहम्मद ने इसकी नक़ल करके आपने राक्षसी रूप को छुपाने ,और लोगों को धोका देने के लिए कुरआन में यह लिख दिया कि-

“हे मुहम्मद हमने तुम्हें संसार के लिए दयालुता बनाकर भेजा है, सूरा -अम्बिया 21 :107. “we sent Thee save as mercy for peoples”.

मुहम्मद की इसी तालीम कि बदौलत मुसलमान इतने हिंसक बन रहे है, क्योंकि वे हत्या की ट्रेनिग छोटे जीवों से सुरू करते है और जब बड़े होते हैं तो बेझिझक इंसानों को क़त्ल कर देते है. हिन्दू तो एक चींटी को भी मारने से झिझक जाता है. 

मुसलमान अपने बच्चों से आदमियों की हत्या कैसे करवाते हैं आप यह विडिओ देखिये –

http://www.truthtube.tv/play.php?vid=2008