Tags

, , , , , , ,


हमारे भारत देश मे अथिति देवो भव: की मानसिकता के कारण भिखारी कौम अथिति के रूप मे हमारे यहाँ घुस के हमारी भारत माता के द्वारा दिया गया अन्न खा कर, हमारे भारत देश की ही पवित्र वायु मे साँसे लेकर, हमारी ही भारत माता के ऊपर वार पे वार करते हुये 1400 वर्षो से हर पल समस्त वेदिक सनातनियों का खून पीते आ रहे है

11814_223145987804464_218790281573368_380914_2086930742_n.jpg

1–1400 वर्षो से तैमूर, ग़ज़नी, औरंगजेब, बाबर, अकबर,गोरी, जिन्ना, ओसामा, कसाब , अफजल जैसे क्रूर, निर्दयी नर पिशाचों और हिंदू रक्त पिपासु ये इस्लामिक जेहादियों के द्वारा किए गए असंख्य इस्लामी आतंकों के कारण आज तक असंख्य हिंदुओं का रख्त नाली मे बह चुका है ……उस समय से लेकर आज तक एक भी मुसलमान हिंदू के साथ खड़ा नही दिखा…..लेकिन आज भी तन हिन्दू मन मुस्लिम प्रकार के हिन्दुओं के लिए……सब मुस्लिम बुरे नहीं होते…….

2–जोधाभाई से लेकर रिंकल तक असंख्य वैदिक हिन्दू पुत्रियाँ इस्लामिक लव जेहाद के अंतर्गत इन मुस्लिमों की हवस का शिकार बन चुकी है, ऐसे जेहादियों को सम्मान देने की जगह इस कु-कृत्य का बहिष्कार करने को उस समय से लेकर आज तक एक भी मुसलमान हिंदू के साथ खड़ा नही दिखा…..लेकिन आज भी तन हिन्दू मन मुस्लिम प्रकार के हिन्दुओं के लिए…..सब मुस्लिम बुरे नहीं होते……

3–आर्यावर्त के कई टुकड़े होने के बाद बचा भारत इस्लामिक जेहाद के घिनौने षड्यंत्र से न बच सका और एक बार फिर से देश के तीन टुकड़े होने के बाद भी आज पुनः सम्पूर्ण भारतवर्ष का हर कोने मे बने एक मिनी पाकिस्तान से कोई भी अपरिचित न होगा…….हिंदुस्तान मे पाकिस्तानी करतूतों के विरोध मे फतवे लगवाने को एक भी मुसलमान हिंदू के साथ खड़ा नही दिखा…..लेकिन आज भी तन हिन्दू मन मुस्लिम प्रकार के हिन्दुओं के लिए……सब मुस्लिम बुरे नहीं होते……

4–सदियों से चली आ रही असंख्य हिन्दू मंदिरों और हिन्दू तीर्थ स्थलों को नष्ट करके (अयोध्या, वाराणसी , लाल किला ,मथुरा, ताजमहल आज भी गवाह है इस्लामीव जेहादी हरकत के) उस जगह पर इस्लामिक तथाकथित निर्माण का नाम देने की इस्लामिक प्रथा के चलते हमारे श्री राम जनम भूमि के भी प्राचीन निर्माण को तुड्वाकर उस भूमि पर गधे के हल चलवा कर बनवाया गया बाबरी नाम के खंडहर को शहीद घोषित करके आज तक उसपर कब्जा जमाने की असफल प्रयास करने वाली दुनिया भर मे भीड़ बढ़ाने को प्रसिद्ध इस कौम से श्री राम मंदिर निर्माण कार्य मे एक भी मुसलमान हिंदू के साथ खड़ा नही दिखा…..लेकिन आज भी तन हिन्दू मन मुस्लिम प्रकार के हिन्दुओं के लिए……सब मुस्लिम बुरे नहीं होते……

5–इस्लाम की गर्वीली देन ओसामा बिन लादेन जैसा महा असुर , महा घ्रणित, नरपिशाच के वध पर गला फाड़ फाड़ के मौन रखने वाली ये मुस्लिम जाती गोधरा मे जय श्री राम के उद्घोष से समस्त वायुमंडल को गुंजाएमान करने वाले रामभक्तों को डिब्बे मे ही ज़िंदा जला कर कोएला बना देने के विरोध मे हम हिंदुओं के साथ उन इस्लामिक जेहादियों को फांसी की सज़ा दिलवाने के नारे लगाने और हमारे गम मे सहयोगी बनने को एक भी मुसलमान हिंदू के साथ खड़ा नही दिखा…..लेकिन आज भी तन हिन्दू मन मुस्लिम प्रकार के हिन्दुओं के लिए……सब मुस्लिम बुरे नहीं होते……

6–चन्द्र शेखर आज़ाद, सावरकर, भगत , सुभाष जी जैसे महान क्रांतिकारियों के बलिदान और अपूर्व साहस की वजह से 1947 मे प्राप्त होने वाली स्वतन्त्रता के बाद भारत मे रह रहे मुस्लिमों की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी गाँधी और नेहरू जैसे तन हिन्दू मन मुल्ला… हज़ारो मुस्लिम प्रेमियों ने ली और मुस्लिम इलाक़ो मे उन की सुरक्षा व्यवस्था के लिए भारत की सेना लगा दी और इस देश के ही एक भाग को इस्लामिक बनाने के बाद वहाँ बचे रह गए हिंदुओं को खुद पूर्ण रूप से विशुद्ध इस्लामी पाकिस्तानी सेना ने अपने ही हाथ से काट डाला……इन सबके बावजूद उस समय से लेकर आज तक इस देश का एक भी मुसलमान हिंदू के साथ खड़ा नही दिखा…..लेकिन आज भी तन हिन्दू मन मुस्लिम प्रकार के हिन्दुओं के लिए……सब मुस्लिम बुरे नहीं होते……

7–हमारे यहाँ घुस के हमारी भारत माता के द्वारा दिया गया अन्न खा कर, हमारे भारत देश की ही पवित्र वायु मे साँसे लेकर, हमारी ही भारत माता के ऊपर वार पे वार करने वाले लश्कर ए तैयबा, हिजबूल मुजाहिद्दीन, अल काएदा , अल बद्र, जमात उल दावा, जैश ए मोहम्मद, सिमी, हूजी, इंडियन मुजाहिद्दीन, द कंपनी, अबू सलेम गॅंग, हरकत उल अंसार जैसे और कई विशुद्ध इस्लामिक समूह हिन्दू रक्त की अपनी पिपासा बुझाते आ रहे है …..और रोटी से लेकर पोटी तक के लिए फतवे जारी करने को प्रसिद्ध ये कौम से एक भी मुसलमान हिंदू के साथ खड़ा नही दिखा…..लेकिन आज भी तन हिन्दू मन मुस्लिम प्रकार के हिन्दुओं के लिए……सब मुस्लिम बुरे नहीं होते……

8– इसी देश के एक महत्वपूर्ण भाग प्रथ्वी का स्वर्ग कहलाने वाली कश्मीर को इस्लामिक जेहाद से नरक बना देने मे सहयोग करने वाले लाखो तन हिन्दू मन मुल्ला …मुस्लिम प्रेमी हिंदुओं के कारण वहाँ निवास करने वाले हमारे कश्मीरी पंडित भाई लोगोकों चीर के काट के नाली मे फेंक दिया गया …उनकी बहन बेटियों की इज्ज़त को सड़क पर उछाल कर उनके अंगो मे अल्लाह नाम की गरम मोहरे लगाकर और तलवार घुसेड़ के अंग भंग कर दिये गए …..उनके घरों को जला के नष्ट कर दिया गया …उनकी जीवन भर की पूंजी को छीनकर उनको हर तरह से बर्बाद कर दिया गया…..फिर भी इस सम्पूर्ण भारत के हर कोने मे घुस घुस कर अपना अधिकार बनाने वाली और मस्जिद से **इस्लाम खतरे मे है** की एक आवाज़ सुनके पूरे देश के हर कोने से एक साथ निकाल के एक सुर मे गला फाड़ने वाली इस इस्लामिक कौम मे से कितने मुस्लिमों ने कश्मीर मे उन हिंदुओं को वापस बसाने का बीड़ा अपने अब्बा और भाईजानों के साथ उठाया ….एक भी मुसलमान इस काम मे भी हिंदू के साथ खड़ा नही दिखा…..लेकिन आज भी तन हिन्दू मन मुस्लिम प्रकार के हिन्दुओं के लिए……सब मुस्लिम बुरे नहीं होते…..

9–आज़ादी के बाद से आज तक असंख्य गौ माताओं को काट के अपनी प्लेट मे परोस कर उसमे तरह तरह के जाएजे लेकर अपना स्वाद पिपासा को पूरा करने वाली इस मुस्लिम कौम मे से कितने मुस्लिमों ने तुम्हारे गौ पूजन का सम्मान करते हुये कितनी बार गौ हत्या का विरोध कर के गौ रक्षा के समर्थन मे फतवे निकाले….इस वर्ष 15 अप्रैल को हैदराबाद मे उस्मानिया यूनिवर्सिटी मे मनाए जा रहे गौ मांस महोत्सव के विरोध मे एक भी मुसलमान इस काम मे भी हिंदू के साथ खड़ा नही दिखा…..लेकिन आज भी तन हिन्दू मन मुस्लिम प्रकार के हिन्दुओं के लिए……सब मुस्लिम बुरे नहीं होते…..

10– आए दिन देश के कोने कोने मे मुस्लिमों के द्वारा शिवरात्रि, नवरात्रि, रामनवमी आदि मे होने वाले हिंदुओं के आयोजनो, कथाओ आदि को अपने मिनी पाकिस्तान के आसपास भी न होने देने के लिए तथा हमारे मंदिरों से आने वाली भजन ,कीर्तन , आरती और घंटा ध्वनि को शैतान की आवाज़ बताते हुये इनपे रोक लगाने की मांग करते हुये इन मुस्लिमों के विरोध मे एक भी मुसलमान इस काम मे भी हिंदू के साथ खड़ा नही दिखा…..लेकिन आज भी तन हिन्दू मन मुस्लिम प्रकार के हिन्दुओं के लिए……सब मुस्लिम बुरे नहीं होते……

मुस्लिमों को राष्ट्र भक्त और देश भक्त बताने वाले समस्त मुस्लिम प्रेमी हिन्दू लोग ऐसे कौन कौन से विशुद्ध इस्लामिक संगठनो को सूचीबद्ध कर सकते है जो की अपना पैसा हिंदुओं और मुस्लिमों मे इस्लामिक कट्टरता को बढ़ाने के लिए दरगाह, पीर, मस्जिद, मदरसे, विशुद्ध इस्लामिक सशस्त्र बल मे लगाने की स्थान पर इस देश मे सर्व धर्म संभाव से अस्पताल, स्कूल , शौचलाया ,प्याओं आदि की व्यवस्था मे व्यय करते आ रहे है…..

कोई भी मुस्लिम सेकुलर नहीं……….कट्टर होता है …..सच्चा सांप्रदायिक होता है ….देश भक्त नहीं पहले इस्लाम भक्त होता है …………….और उसकी ये इस्लाम भक्ति उसको कभी भी अच्छा नहीं बनने दे सकती………..क्योंकि तब वो अफजल और ओसामा की तरह एक सच्चा मुसलमान होता है॥जिसको अल्लाह दोज़ख नहीं जन्नत नसीब करवाता है ……….और अगर कोई मुस्लिम अपनी कुरान या इस्लाम से अलग चलने का प्रयास भी करता है तो वो कुफ्र होता है….दज्जाल होता है ……..और उस पर शैतान का वास हो चुका होता है जिसको कत्ल करना हर एक मुस्लिम का फर्ज़ है …………..इसलिए उन पर फतवे जारी कर दिये जाते है………………जैसे तसलीमा नसरीन…….और सलमान रश्दी

इसलिए सारे मुसलमान बुरे नहीं होते…….इस नारे को गुंजाएमान करने का कौन सा ऐसा कारण है जो हिंदुओं को तन हिन्दू मन मुल्ला बनने को प्रेरित करता है….?