Tags

, , , , , , ,


by भांडाफोडू (Bhandafodu)

मुल्ले मौलवी कुरान के बाद हदीस को प्रमाण मानते हैं, और अक्सर सारे बेतुके फतवे इन्हीं हदीसों के आधार पर देते रहते हैं.

सुन्नी मुसलमान 6 हदीसों को सही मानते हैं. चूँकि हदीसों का साहित्य काफी विशाल है, इसलिए अधिकांश मुसलमान पूरी हदीसों से अनजान है. लोगों को यह भी पता नहीं है कि हदीसों में क्या लिखा है, उनका स्रोत क्या है, लेंकिन हदीसों का ठीक से अध्ययन करने से पता चलता है कि मुहम्मद साहब को चलते फिरते जो भी जानकारी मिलती थी, वह उसके बारे में जो भी बयान अपने साथियों के सामने देते थे, उनके साथी याद कर लेते थे. जिसे बाद में किताबों के रूप में जमा कर दिया गया था.

अरबी में हदीस का बहुवचन ” अहादीस ” होता है. जिसका अर्थ बातें होता है. मुसलमान हदीस को धर्मग्रंथ इसलए मानते हैं, क्योंकि कुरान भी एक हदीस ही है.

जैसा कि कुरान में कहा है, यानि हदीस और कुरान एक ही बात है. कुरान में लिखा है, —

“अल्लाह ने हदीस की सर्वोत्तम किताब उतारी है, जिसके सभी हिस्से आपस में जुड़े हुए हैं, और बार बार दोहराए गए हैं . सूरा -अज जुमर 39 :23.

“اللَّهُ نَزَّلَ أَحْسَنَ الْحَدِيثِ كِتَابًا مُتَشَابِهًا مَثَانِيَ تَقْشَعِرُّ مِنْهُ — “39:23

यह हदीसें क्या सिखाती हैं, इसके कुछ नमूने दिए जा रहे हैं —

1- रसूल की बन्दर बुद्धि —

बन्दर सबकी नक़ल करते हैं, लेकिन रसूल ने बंदरों की नक़ल करके एक कानून बना दिया हो इस्लामी देशों में लागु है.

अम्र बिन मैमून ने कहा कि मैंने देखा कि एक जगह कुछ बन्दर एक बंदरिया को घेर कर उसे पत्थर मार रहे थे, क्यों कि बंदरिया ने दूसरे बन्दर के साथ अवैध सम्भोग किया था, मैंने भी पत्थर मारा. और जब रसूल रसूल आये तो उन्होंने भी इतने पत्थर मारे कि बंदरिया मर गयी.

“حَدَّثَنَا نُعَيْمُ بْنُ حَمَّادٍ حَدَّثَنَا هُشَيْمٌ عَنْ حُصَيْنٍ عَنْ عَمْرِو بْنِ مَيْمُونٍ قَالَ رَأَيْتُ فِى الْجَاهِلِيَّةِ قِرْدَةً اجْتَمَعَ عَلَيْهَا قِرَدَةٌ قَدْ زَنَتْ ، فَرَجَمُوهَا فَرَجَمْتُهَا مَعَهُمْ . تحفة

“Sahih” Al-Bukhari Volume 5. Hadith #188
Bukhari Hadith (Arabic) Serial No.3849- 10790 ، 19178.

2- औरतों की योनी में फ़रिश्ते घुसे —

जो फ़रिश्ते कुरान की आयतें लाते थे अल्लाह उन्हीं को औरतों की योनी में घुसा देता था, जहाँ से वह दुआ करते रहते है.

अनस बिन मलिक ने कहा कि रसूल ने बताया है, अल्लाह औरतों की योनी में फ़रिश्ते घुसा देता है. वह अन्दर घुसे हुए दुआ करते हैं. ” अल्लाह इस योनी में एक बूंद वीर्य टपका दे, जिस से अन्दर गोश्त का लोथड़ा जम जाये. तब अल्लाह बच्चा बना देता. और तय करता है कि, लड़का होगा या लड़की. फिर अल्लाह बच्चे की आयु, जीविका और धर्म तय कर देता है. और फ़रिश्ते सारा विवरण लिख लेते हैं. सारी योनी में ही तय हो जाती हैं.

حَدَّثَنَا أَبُو النُّعْمَانِ حَدَّثَنَا حَمَّادُ بْنُ زَيْدٍ عَنْ عُبَيْدِ اللَّهِ بْنِ أَبِى بَكْرِ بْنِ أَنَسٍ عَنْ أَنَسِ بْنِ مَالِكٍ – رضى الله عنه – عَنِ النَّبِىِّ صلى الله عليه وسلم قَالَ « إِنَّ اللَّهَ وَكَّلَ فِى الرَّحِمِ مَلَكاً فَيَقُولُ يَا رَبِّ نُطْفَةٌ ، يَا رَبِّ عَلَقَةٌ ، يَا رَبِّ مُضْغَةٌ ، فَإِذَا أَرَادَ أَنْ يَخْلُقَهَا قَالَ يَا رَبِّ ، أَذَكَرٌ أَمْ يَا رَبِّ أُنْثَى يَا رَبِّ شَقِىٌّ أَمْ سَعِيدٌ فَمَا الرِّزْقُ فَمَا الأَجَلُ فَيُكْتَبُ كَذَلِكَ فِى بَطْنِ أُمِّهِ » . تحفة 1080.

“Sahih” Al-Bukhari Volume 8. Hadith No.594.
Bukhari Hadith (Arabic) Serial No.3333.

3- चूहे पिछले जन्म के यहूदी हैं —

वैसे तो मुसलमान पूर्व जन्म में विश्वास नहीं करते, लेकिन यहूदियों को नीचा दिखने के लिए चूहों को पूर्व जन्म का इस्राइली बता दिया.

अबू हुरैरा ने कहा कि रसूल ने बताया कि, पराने ज़माने में इस्राइलियों का एक कबीला खो गया, जिसका आज तक पता नहीं चला. क्योंकि उस पर अल्लाह ने धिक्कार किया था. आज के चूहे वही इस्राइली है. काअब ने तीन बार रसूल से पूछा कैसे, तो रसूल ने कहा इसका सबूत यह है, अगर तुम चूहों को ऊंटनी का दूध पिलाओगे तो वह नहीं पियेंगे, और भेड़ का दूध तुरंत पी लेंगे.

حَدَّثَنَا مُوسَى بْنُ إِسْمَاعِيلَ حَدَّثَنَا وُهَيْبٌ عَنْ خَالِدٍ عَنْ مُحَمَّدٍ عَنْ أَبِى هُرَيْرَةَ – رضى الله عنه – عَنِ النَّبِىِّ صلى الله عليه وسلم قَالَ « فُقِدَتْ أُمَّةٌ مِنْ بَنِى إِسْرَائِيلَ لاَ يُدْرَى مَا فَعَلَتْ ، وَإِنِّى لاَ أُرَاهَا إِلاَّ الْفَارَ إِذَا وُضِعَ لَهَا أَلْبَانُ الإِبِلِ لَمْ تَشْرَبْ ، وَإِذَا وُضِعَ لَهَا أَلْبَانُ الشَّاءِ شَرِبَتْ » . فَحَدَّثْتُ كَعْباً فقَالَ أَنْتَ سَمِعْتَ النَّبِىَّ صلى الله عليه وسلم يَقُولُهُ قُلْتُ نَعَمْ . قَالَ لِى مِرَاراً . فَقُلْتُ أَفَأَقْرَأُ التَّوْرَاةَ تحفة

Sahih” Al-Bukhari Volume 4. Hadith #524.
Bukhari Hadith (Arabic) Serial No.3305.

4- औरतों को कैसे पटायें यह हदीस सिखाती है —

कि जो चालाक औरतें आसानी से नहीं फंसती है, उनकी किसी कमजोरी का फायदा उठा कर उन से मजे लिए जा सकते हैं, फिर वह काबू में आ सकती हैं.

अबू हुरैरा ने कहा कि रसूल ने बताया है, औरतें एक पसली (Rib) कि तरह टेढ़ी होती है, अगर उनको सीधा करने की कोशिश करोगे तो वह टूट जायेंगी. इसलिए उनकी किसी चालाकी को पकड़ो, फिर उनके साथ जितना चाहो उतना मजा करो.

حَدَّثَنَا عَبْدُ الْعَزِيزِ بْنُ عَبْدِ اللَّهِ قَالَ حَدَّثَنِى مَالِكٌ عَنْ أَبِى الزِّنَادِ عَنِ الأَعْرَجِ عَنْ أَبِى هُرَيْرَةَ أَنَّ رَسُولَ اللَّهِ صلى الله عليه وسلم قَالَ « الْمَرْأَةُ كَالضِّلَعِ ، إِنْ أَقَمْتَهَا كَسَرْتَهَا ، وَإِنِ اسْتَمْتَعْتَ بِهَا اسْتَمْتَعْتَ بِهَا وَفِيهَا عِوَجٌ »

Sahih” Al-Bukhari Volume 7. Hadith #113
Bukhari Hadith (Arabic) Serial No.5184.

5- पेशाब करने का रसूली तरीका —

रसूल हमेशा दोहरी नीति अपनाते थे, वह दूसरों के जिस काम को गुनाह बताते थे, वही काम खुद करते और करवाते थे, देखिये दूसरों के लिए यह कानून है.

अबू हुजैफा ने कहा कि अबू वैल और अबू मूसा अल अशरी ने रसूल से पेशाब करने के बारे में सवाल किया, तो रसूल ने कहा अगर कोई बनी इस्राइल का आदमी खड़े होकर पेशाब करे, और उसके छींटे कपड़ों पर गिरें, तो उसका उतना कपड़ा काट डालो.

حَدَّثَنَا مُحَمَّدُ بْنُ عَرْعَرَةَ قَالَ حَدَّثَنَا شُعْبَةُ عَنْ مَنْصُورٍ عَنْ أَبِى وَائِلٍ قَالَ كَانَ أَبُو مُوسَى الأَشْعَرِىُّ يُشَدِّدُ فِى الْبَوْلِ وَيَقُولُ إِنَّ بَنِى إِسْرَائِيلَ كَانَ إِذَا أَصَابَ ثَوْبَ أَحَدِهِمْ قَرَضَهُ . فَقَالَ حُذَيْفَةُ لَيْتَهُ أَمْسَكَ ، أَتَى رَسُولُ اللَّهِ صلى الله عليه وسلم سُبَاطَةَ قَوْمٍ فَبَالَ قَائِماً

Sahih Bukhari – Vol 1, Book 4. Ablutions (Wudu’). Hadith 226.

6. अपनों के लिए यह कानून —

अबू हुजैफा ने कहा कि मैंने देखा कि रसूल आये और सब लोगों के सामने खड़े होकर एक ढेर पर पेशाब करने लगे. और उनके पीछे मैं भी खड़ा हो गया.

حدثنا عبد الله حدثني أبي ثنا أبو نعيم ثنا يونس يعنى بن إسحاق عن أبي إسحاق عن نهيك عن عبد الله السلولي ثنا حذيفة قال : رأيت رسول الله صلى الله عليه وسلم أتى سباطة قوم فبال قائما

Sahih Bukhari –Vol 1, Book 4. Ablutions (Wudu’). Hadith 225.

7- हदीसों का पाखण्ड —

काफी समय से कुछ मुस्लिम लडके यह प्रचार कर रहे हैं कि इस्लाम अपने माता पिता की आज्ञा पालन करने कि शिक्षा देता है, और एक हदीस दिखाते है जिसमे कहा है “الجنة تحت أقدام من والدتنا “” माता के कदमों के नीचे जन्नत होती है ” Ibn Majah, Sunan, Hadith no. 2771).

लेकिन यह हदीस केवल दिखावा है, क्योंकि कुरान में इस से उलटी बात लिखी है.

कुरान में कहा है “अगर तेरे माता पिता तुझ पर किसी ऐसी बात को मानने पर दवाब डालें, जो तुझे पसंद नहीं हो, तो तू उनकी बात नहीं मानना “सूरा -लुकमान 31 :15.

8- हदीसों में सेक्स की दावत—

आज भी कुछ लोग इस भ्रम में पड़े हुए है, कि शायद मुहम्मद साहब ने हदीसों में ऐसी ज्ञान और अध्यात्म कि बातें कही होंगी, जिन से प्रभावित होकर लोग इस्लाम स्वीकार कर रहे हैं, लेकिन ऐसा नहीं है. हदीसों में केवल सेक्स की दावत दी जाती है, जैसा कि दिए गए विडियो में एक मुल्ला दे रहा है मस्जिद मेँ दी जा रही वाहियात तालीम की एक झलक —

” मुल्ला कह रहा है ” मुसलमानों तुम अपनी इन पुरानी मैली कुचैली औरतों के चक्कर में नहीं पड़ो, रसूल ने उम्हरे लिए ऐसी औरतों का इंतजाम कर रखा है, जो सदा जवान रहेंगी, उनके कपड़ों के अन्दर उनके सभी अंग दिखेंगे, वह सदा पलंग पर सम्भोग के लिए तैयार रहेंगी. इसलिए तुम्हें पचास मर्दों के बराबर ताकत दी जाएगी. फिर जैसे ही एक औरत निपट जाएगी तुरंत दूसरी आ जाएगी. जन्नत में सिर्फ यही काम चलता रहेगा.

बड़े अफसोस कि बात है शिक्षा के नाम पर ऐसी बातें सरकारी अनुदान से चलने वाले मदरसों में पढ़ाई जाती हैं . जिनमे मुस्लिम लड़कियाँ भी तालीम लेती है. क्या ऐसी हदीसें मुस्लिम लड़कों को ” जिगोलो (Gigolo) लड़कियों को वेश्या नहीं बना रही है ? जवाब दीजिये.