Tags

, ,


भारत के लगभग सभी धर्मों की यह मान्यता है ,कि जब जब धरती के किसी भी हिस्से में लोग अमानवीय और अनैतिक कामों में लिप्त होकर पाप या अधर्म के काम करने लगते हैं ,तो उनको सही रास्ता दिखाने और अधर्म को समाप्त करने के लिए समय समय पर अनेकों महापुरुष आते रहते हैं . जिनको अवतार कहा जाता है ,लेकिन यहूदी , इसाई और इस्लाम धर्म इसके विपरीत मानते हैं ,वह अल्लाह द्वारा भेजे गए यानि नियुक्त किये गए ऐसे महापुरुषों को “नबी ” कहते हैं .नबी भी लोगों को अल्लाह द्वारा दिखाए रस्ते पर चलने को कहते हैं .
इस विषय को और स्पष्ट करने के लिए पहले हमें यह स्वीकार करना होगा कि , यहूदी ,ईसाई और मुसलमानों का अल्लाह एक ही है .मुझे विश्ववास है कि इस बात से किसी को कोई आपात्ति नहीं होना चाहिए .दूसरी बात यह है कि यह तीनों धर्म मानते हैं कि मनुष्यों को सही रस्ते से भटकाने और पाप कर्म करने प्रेरणा शैतान ही देता है .
इसीलिए अपने बन्दों को शैतान के फंदे से बचाने और सीधे मार्ग पर लेजाने के लिए अल्लाह अपने नबियों को उठाता है , देखिये .
1-अल्लाह और शैतान का झगडा
कुरान के अनुसार आदम के बनने बाद से ही अल्लाह को चुनौती दी थी कि वह उसके बन्दों को गुमराह करेगा ,यही बात बाइबिल में भी है ,यहाँ कुरान में इस प्रकार कहा गया है –
शैतान ने अल्लाह से कहा ,जैसा तूने मुझे गुमराह किया है मैं तेरे लोगों के रस्ते में घात लगा कर बैठूँगा ,और उनके आगे और पीछे से आक्रमण करूँगा ,और तू अधिकांश को कृतज्ञ नहीं पायेगा “सूरा-अल आराफ 7 :14 -17 
“अल्लाह ने कहा निस्संदेह मेरे बन्दों पर तेरा कोई बस नहीं चलेगा ,सिवाय को बहके हुए लोग है “सूरा-अल हिज्र 15 :42
2-नबियों की संख्या
अल्लाह ने आदम से लेकर कई भेजे भेजेइस्लामी मान्यता के अनुसार हैं जो अल्लाह का सन्देश लोगों को देते थे , यह कुरान और हदीस में है ,
कितने रसूल हैं ,जिनका विवरण हम बयान कर चुके हैं और कितने ऐसे हैं जिनका वृतांत हमने नहीं दिया है “सूरा -अन निसा 4 :164 
( नोट – कुरान में सिर्फ 27 नबियों का विवरण मिलता है )
 “और हरेक जाति के लिए एक मार्ग दिखाने वाला ( हादी ) हुआ है “सूरा -रअद 13 :7 
रसूल ने कहा कि आदम से लेकर मुझ तक एक लाख चौबीस हजार (124000 )नबी आये है ,जिनमे तीन सौ पंद्रह ( 315 ) रसूल थे ,जिनके सन्दर्भ मिलते हैं .
“قال النبي (صلي الله عليه وسلم): “من آدم لي، بعث الله من مائة وأربعة وعشرون ألف الأنبياء، من بينهم 315 كانوا رسل
كما يشير التقرير.
Prophet(peace be upon him) said:”From Adam to me, Allah sent a hundred and twenty-four thousand Prophets ,of whom three hundred and fifteen were messengers 
Reference is given .
Musnad Ahmed  Hanbal-Hadith No-21257

3-सभी नबी समान हैं
इसके बाद कुरान में यह भी कहा गया है कि,
हम अल्लाह की किताबों और उसके भेजे नबियों के बीच में कोई अंतर नहीं करते हैं “सूरा -बकरा 2 :285 
जो दूसरे सभी नबियों को और जो उनके रब की ओर से मिली (नबूवत ) उनमे किसी के बीच में अंतर (distinction ) नहीं करते और हम उसी के आज्ञाकारी हैं . सूरा -बकरा 2 :136 और सूरा -आले इमरान -3 :84 
4-तफ़सीर में वर्णित नबी
यह ऐसे नबी है जिनका नाम दिए बिना इनकी कथाएं कुरान में दी गयी हैं .(और कुरान की तफसीर अल मीजान बाब 15 में हैं) 
There are some prophets whose stories are given in the Qur’an without mentioning their names. These are:
No. Arabic Name Transliteration English Version
1. خضر Khidhr (a.s.) —खिज्र
2. يوشع بن نون Yusha bin Nun (a.s.) Joshua-जोशुआ बिन नून
3. شموئيل Shamuel (a.s.) Samuel-समूएल (इस्माइल )
4. حزقيل Hizqueel(a.s.) Ezekiel-हिजकिएल
5. ذو القرنين Dhul-Quarnain[2]-जुलकरनैन (सिकंदर )
6. رسول اصحاب الاخدود An Ethiopean Prophet [3]-रसूल असहाब अल्खुद ( हब्शी)
7. شمعون الصفا Shamun Simon (Peter)-शिमॉन पीटर ( ईसा का शिष्य और प्रथम पोप )
8- 9. حواريان آخران لعيسى Two other disciples of Jesus Christ -हवारियान ( ईसा के दो शिष्य )
5-अल मीजान में वर्णित नबी
यह ऐसे नबियों के नाम है ,जिनका उल्लेख इस्लामी इतिहास की किताबों जी अल मीजान और परंपरा में मिलते है .इनमे भगवान बुद्ध का नाम भी है जिसे अरबी में बुजास्फ़ कहा गया है .(न .9 )
Now we may mention some of the prophets whose names are found in the traditions:
No. Arabic Name Transliteration English Version

1. شيت Sheth Seth-सैस
2. سام Saam Shem-साम
3. ارميا Armia Jeremiah-यिर्मियाह
4. دانيال Danial Daniel-दानिएल
5. عموس Amus Amos-आमोस
6. عبيدة Obaidiah Obaidiah-ओबैदयाह
7. حبقوق Habakkuk Habakkuk-हबक्कूक
8. جرجيس Jirjis —जिरजिस
( इन आठ नबियों के नाम तौरेत यानि बाइबिल में मौजूद हैं )
9. بوذاسف Budhastav Budhastav-बुजास्फ़ ( बोधिसत्व यानि गौतम बुद्ध )(Gotam Bodh)
10. خالد بن سنان Khalid bin Sanan -खालिद बिन सनान
6-महिला नबीया
आजकल के कठमुल्ले भले इस बात को स्वीकार नहीं करें कि ,उन्हीं के अल्लाह ने औरतों और क्वांरी लड़कियों को भी अपना नबी बना दिया था .तौरेत के समय तो अल्लाह को औरतों को नबी बनाने में कोई आपति नहीं थी ,लेकिन मुहमद के अमे अल्लाह को मुस्लिम औरतों से इतनी नफ़रत हो गयी कि उसने एक भी अरबी औरत को नबी बनने के लायक नहीं समझा ,और माहवारी का बहाना बना कर उनको नबी नहीं बनाया .
तौरेत अर्थात बाइबिल के पुराने नियम ( Old Testament ) में इन महिला नबियों (prophetesses. )के नाम सन्दर्भ दिए गए हैं इन्हें हिब्रू और अरबी में नबीया कहा गया है .-हिब्रू में ( נביאה)अरबी में ( نبية)
http://bibleq.info/answer/4201/
नोट – दी गयी लिंक को देखें )
Several women are described as prophetesses. In the Old Testament we have the following five:
Miriam (Exodus 15:20-21) -मरियम (हारून की बहिन )
Deborah (Judges 4:4) -देबोरा -लप्पीदोत की स्त्री
Huldah (2 Kings 22:14) -हुलदा-शल्लूम की पत्नी
Noadiah (Nehemiah 6:14) -नोअद्याह
Isaiah’s wife (Isaiah 8:3) -यशायाह की पत्नी
तौरेत में दी गयी इन महिला नबीया के आलावा यहूदी धर्मग्रंथ तलमूद में इन महिला नबीया के नाम मिलते हैं 1 .सारह ,हन्नाह ( नबी समूएल की पत्नी ) 2 .अबीगेल ( नबी दाऊद की पत्नी ) 3 .एस्तेर(पुस्तक एस्तेर )इनको भी नबीया माना गया है .
The Jewish Talmud counts some additional women as prophets including Sarah, Hannah (mother of Samuel), Abigail (wife of David) and Esther. However, these are not called prophets or prophetesses in the Bible.
नए नियम में इन नबीया के नाम दिए हैं
In the New Testament, there are another five:
-अन्ना -फ़नूएल की बेटी -Anna (Luke 2:36)
राजा फिलिप की चारों पुत्रियाँ -Philip’s four daughters (Acts 21:8-9) –
इसा मसीह की माता मरियम और यूहन्ना बपतिस्ती की माता एलियाबेथ भी नबूवत करती थीं लेकिन उनको नबीया नहीं कहा गया है .
Although not called prophetesses, both Mary mother of Jesus (Luke 2:46-55) and Elizabeth mother of John Baptist (Luke 2:41-45) both made prophecies.

मुझे पूरा विश्वास है कि मेरे इस लेख को पढ़कर हिन्दू और मुस्लिम बहिने जरुर खुश होंगी कि यदि जहन्नम जैसे कोई जगह है तो उस से डरने की कोई जरुरत नहीं है ,क्योंकि वहां पर हिन्दुओं मदद के लिए अल्लाह के नबी बुध भगवान होगे ,और मुस्लिम बहिनों को मुस्लिम मर्दों के अत्याचार से बचाने के लिए अल्लाह की कई नबीया मिल जाएँगी .यातो यह कुतर्की मुल्ले अल्लाह के इन नबियों को झूठ काह दें ,या फिर कह दें कि यहूदी ,इसी ,हिन्दू और मुसलमानों का अल्लाह अलग या कोई दूसरा है .याद रखिये इन सभी नबियों के नाम अल्लाह कि किताबों में लिखे हैं 
.
हमें इस बात को स्वीकार कर लेना चाहिए कि अल्लाह के सभी नबी समान हैं .

http://www.imamreza.net/eng/imamreza.php?id=9455